What is Solar Energy in Hindi | सौर ऊर्जा क्या है | Saur Urja Kya hai

By | June 29, 2021

इस ब्लॉग में, मैंने सौर ऊर्जा (Solar Energy) के बारे मे विस्तृत बताया है कि, सौर ऊर्जा क्या है (What is Solar Energy in Hindi), सोलर एनर्जी के प्रकार (Types of Solar Energy in Hindi), सौर ऊर्जा के उपयोग, सौर ऊर्जा के लाभ, सौर ऊर्जा के फायदे व नुकसान और अन्य सौर ऊर्जा के बारे में जानकारी विस्तृत रूप से वर्णन किया है, तो चलिए पहले जानते है कि, सोलर एनर्जी क्या है (Information on Solar Energy in Hindi).

भारत मे बिजली का उत्पादन करने के साथ इसकी खपत भी बहुत अधिक है। जैसे-जैसे देश में बिजली का उत्पादन हर साल बढ़ रहा हैं, वैसे ही जनसंख्या भी साथ में बढ़ रही हैं। अभी भी भारत के कुछ क्षेत्रों में बिजली उपलब्धता नहीं हो पाई हैं। ऐसे मे लोग बिजली स्रोत के लिए सोलर एनर्जी (Solar Energy) का इस्तेमाल करते है। वर्तमान में, सौर ऊर्जा का उपयोग दिन-प्रतिदिन अधिक होने लगा है क्योंकि यह एक Renewable Energy का अच्छा संसाधन हैं जिसका मतलब है कि यह ऊर्जा कभी खत्म नही हो सकता हैं इसका इस्तेमाल करके बिजली बिल की बचत की जा सकती हैं।

what is solar energy in hindi

What is Solar Energy in Hindi?

सूर्य की ऊर्जा को मुख्य रूप से विद्युत उर्जा में बदलने को सौर ऊर्जा के नाम से जानते है। भारत में सौर ऊर्जा (Solar Energy) का उपयोग कई प्रकार की उद्देश्यों के लिए करते है, जैसे- बिजली पैदा करना, लाइट जलाने, सोलर-पावर कंडीशनिंग और पानी गर्म करना आदि। सौर ऊर्जा के जरिये ही मौसम तथा जलवायु में बदलाव होता है। इसके कारण पृथ्वी पर सभी प्रकार के जन-जीवन पेड़-पौधों तथा जीव-जन्तुओ के जीने का अस्तित्व हैं। इसके द्वारा ही पेड़-पौधें अपने भोजन का निर्माण करते हैं। जिसके कारण उनसे हमें और सभी जीव-जन्तुओं को भोजन प्राप्त होता है। इसलिए सौर ऊर्जा का हमारे दैनिक जीवन का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा हैं।

सौर ऊर्जा कि परिभाषा क्या है (Solar Energy Definition in Hindi)

सौर ऊर्जा (Solar Energy) वह ऊर्जा है जो सूर्य की किरणों से प्राप्त होती है, जो तापीय या विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित की जाती है। सौर ऊर्जा सबसे बड़ी मात्रा मे अक्षय ऊर्जा स्रोत है। सूर्य की किरणों को सौर पैनलों या फोटोवोल्टिक कोशिकाओं द्वारा विद्युत ऊर्जा में बदला जाता हैं, जिसे सौर ऊर्जा या सोलर एनर्जी के नाम से जानते हैं। सोलर टेक्नॉलोजी द्वारा इस ऊर्जा का विभिन्न तरीकों से इस्तेमाल किया जाता है, जिसमें बिजली पैदा करना, इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को चार्ज करने, प्रकाश करने, खाना पकाने और सौर परिवहन, घरेलू, व्यवसायिक या औद्योगिक उपयोगो के लिए पानी गर्म करना इत्यादि कामों में प्रयोग किया जाता हैं।

सौर ऊर्जा क्या है (What is Solar Energy in Hindi)

Solar Energy अर्थात Hindi Meaning में “सौर ऊर्जा या सोलर ऊर्जा” कहते है, सौर ऊर्जा जो कि सूर्य की किरणें से प्राप्त ऊर्जा होती है जो सीधे थर्मल या विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित किया जाता है। सौर ऊर्जा नवीन व नवीनीकरण ऊर्जा के अंतर्गत आता है जो कि ऊर्जा के गैर परम्परागत स्त्रोत हैं, क्योकि सूर्य कभी न खत्म होने वाला ऊर्जा का स्त्रोत है, सौर ऊर्जा को फोटोवोल्टिक सेलों के माध्यम से विद्युत ऊर्जा में बदला जाता है।

जब सूर्य कि किरणे सीधे धरती पर पड़ती है है तो इसका लाभ पेड़, पौधे, जीव, जंतुओं, मौसम व जलवायु को मिलता है, लेकिन वर्तमान समय मे इसका उपयोग सौर ऊर्जा के रूप में किया जा रहा हैं, सूर्य की किरणों का उपयोग सौर ऊर्जा को सोलर पैनल के माध्यम से बिजली पैदा की जाती है। भारत का पहला सौर थर्मल पावर स्टेशन राजस्थान में हैं, भारत विश्व का एक ऐसा देश होगा जो इस तकनीक से विद्युत का व्यवसायिक उत्पादन करने वाला देश हैं।

सूर्य की प्राप्त किरणों को विभिन्न तकनीकों के माध्यम से जैसे, फोटोवोल्टिक पैनल, सौर हीटर और सोलर थर्मल आदि की सहायता से मुख्य रूप से विद्युत उर्जा में बदला जाता है जिसे सौर ऊर्जा के रूप में जानते है। सौर ऊर्जा या सोलर ऊर्जा वह ऊर्जा है जो सीधे सूर्य द्वारा प्राप्त होती हैं इसको न तो पैदा कर सकते है और न ही नष्ट कर सकते हैं। सौर ऊर्जा पृथ्वी पर पायी जाने वाली सबसे बड़ी मात्रा में ऊर्जा संसाधन है। इसे कई तरीकों से अक्षय ऊर्जा (Renewable Energy) स्रोत के रूप में एकत्रित करके उपयोग किया जा सकता हैं।

यह भी पढ़ें-    इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IoT) क्या है?

Renewable Energy Kya Hai

Renewable energy का हिंदी अर्थ, अक्षय ऊर्जा या नवीकरणीय ऊर्जा होता हैं। यह वह ऊर्जा होती है जिनके स्रोतों का क्षय नहीं होता है मतलब की जो ऊर्जा कभी खत्म नहीं होतीं है। Renewable का अर्थ होता हैं की Clean Energy मतलब की ये प्रदूषणकारक नहीं होते हैं जो की प्राकृतिक स्रोत से आता है जिसे प्रकृति बार-बार पुनःपूर्ति करता रहता है। इन सभी सौर ऊर्जा को एक रूप से दूसरे रूप में परिवर्तित किया जाता है। अक्षय ऊर्जा एक ऐसा विकल्प है जो असीमित ऊर्जा है। Renewable Energy प्राकृतिक स्रोतों पर निर्भर करती हैं। उदाहरण के लिए-

  • सौर ऊर्जा
  • पवन ऊर्जा
  • जलबिजली ऊर्जा
  • ज्वारीय ऊर्जा
  • भूतापीय ऊर्जा
  • बायोमास ऊर्जा
  • पृथ्वी ऊर्जा

सोलर एनर्जी के प्रकार (Types of Solar Energy in Hindi)

सौर ऊर्जा दुनिया भर के लोगों के बीच पर्यावरण के लिए हरित ऊर्जा और अन्य लाभों को प्राप्त करने के लिए एक लोकप्रिय और सुविधाजनक विकल्प के रूप मे उभरा है। सोलर एनर्जी के वास्तव में देखा जाए तो बहुत से प्रकार है लेकिन मुख्य रूप से सौर ऊर्जा के 5 प्रकार हैं-

1. Photovoltaic Solar Energy
2. Solar water heating systems
3. Solar power plants
4. Passive solar heating
5. Solar cooling system

Photovoltaic Solar Energy

फोटोवोल्टिक सोलर एनर्जी सोलर पावर के उपयोग का सबसे कॉमन रुप है इसे सोलर सेल सिस्टम के नाम से भी जानते है, यह सीधे सूर्य के किरण से इलेक्ट्रिसिटी प्रोड्यूस करता है। इसके लिए हम टेक्नोलॉजी में देख सकते है जैसे घड़ी या कैलकुलेटर सूर्य के ऊर्जा से चार्ज हो जाती है। इसका उपयोग सोलर पैनल के माध्यम से बिजली उत्पादन में किया जाता हैं, साथ ही सोलर सेल व सोलर सेमीकंडक्टर में भी उपयोग होता हैं।

Solar Water Heating System

यह solar energy का दूसरा रूप है, इसे सीधे तौर मे प्रकृति से लिया गया है, सूर्य की किरण से पानी को गर्म किया जाता है Solar Hot Water भी कहते हैं क्योंकि सीधे पानी को गर्म किया जाता है फिर उसे विद्युत ऊर्जा मे परिवर्तन करते है। इसका उपयोग घर मे पानी गर्म करने तथा स्विमिंग पूल, जकूजी, व वाशिंग मशीन आदि के लिए गर्म पानी का उपयोग करते हैं।

Solar Power Plants

यह सोलर एनर्जी का तीसरा प्रकार हैं जिसका उपयोग अधिकतर बड़े-बड़े इंडस्ट्रीयल में होता है, जहाँ सूर्य की किरण से सीधे सोलर इलेक्ट्रिसिटी बनता है, यह एक तरह से रिन्यूएबल होता है Fossil Fuels से गर्म पानी बनता है। इसका उपयोग थर्मल पावर के रूप मे किया जाता हैं, बड़े से क्षेत्र में चारो तरह शीशे लगाकर सूर्य की किरण को केंद्रित किया जाता है व बिजली का उत्पादन करते हैं।

Passive Solar Heating

यह बहुत ही पुराना सोलर एनर्जी सिस्टम है, इसका उपयोग घर या आफिस के लिए दिन में रोशनी करने के लिए किया जाता है, ठंड के समय घर गर्म रहे व अंदर रोशनी रहे, उसके अनुरूप रूम के अंदर खिड़कियां बनाई जाती हैं।

Solar Cooling System

Solar cooling system का उपयोग सूर्य की किरण से ठंडा करने के लिए किया जाता हैं जैसे रेफ्रिजरेटर व एयर कंडीशनर के माध्यम से। इसके लिए थर्मल शीतलन प्रणाली मे काम करता हैं व तापमान को कम करता है जिससे ठंडा रहे।

सौर ऊर्जा के उपयोग (Uses of Solar Energy in Hindi)

वर्तमान समय में, सौर ऊर्जा के उपयोग बहुत अधिक मात्रा में शहर व गांव दोनों जगहों में कर रहे है। आन्ध्रप्रदेश में सालिजिपल्ली भारत का पहला ऐसा गांव है जहाँ पूरा बिजली कनेक्शन सौर ऊर्जा से किया जा रहा हैं वही जयपुर के सभी स्ट्रीट लाइट्स सौर ऊर्जा में ही आधारित है। अनुकूल भौगोलिक स्थिति को ध्यान रखे तो भारत मे राजस्थान, गुजरात व महाराष्ट्र में सौर ऊर्जा का विशेष लाभ उठाया जा सकता है। सोलर एनर्जी के कुछ महत्वपूर्ण उपयोग निम्न हैं-

• सर्वप्रथम पानी की बात आती है सोलर हीटिंग प्रणाली के माध्यम से हम ठंडे पानी को आसानी से गर्म कर सकते हैं एवं गर्म पानी का बहुत ज्यादा उपयोग है आज के समय मे।

• सोलर एनर्जी के माध्यम से घर मे उपस्थित सभी इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को चार्ज कर सकते है, इसका उपयोग अमूमन ग्रामीण क्षेत्रों में किया जा रहा हैं।

• सोलर हाउसिंग हीटिंग के माध्यम से ठंड के समय मे घर को दिन-रात गर्म रख सकते हैं।

• खाना बनाने के लिए सौर ऊर्जा का उपयोग कर सकते है, सौर कुकर व सौर ओवन का उपयोग हम सौर ऊर्जा से खाना पकाने में करते हैं।

• खेतों में अधिकता में आज के समय मे सोलर पैनल के माध्यम से सोलर पम्प का उपयोग करके खेतों की सिंचाई हो रहा हैं।

• सौर ऊर्जा के माध्यम से सोलर स्ट्रीट लाइट्स चार्ज होती है व रात में प्रकाश के लिए उपयोग करते हैं।

• सोलर एनर्जी के माध्यम से कैलकुलेटर, घड़ियां तथा बैटरी चार्ज किया जाता हैं, तथा रात में बिजली नही होने पर उसका उपयोग पहाड़ी इलाकों में करते हैं।

• पहाड़ी या ग्रामीण इलाकों में Telecommunication Network को चलाने के लिए सौर ऊर्जा (Solar Energy) का बड़े पैमाने पर उपयोग किया जाता हैं।

सौर ऊर्जा के लाभ (Advantages of Solar Energy in Hindi)

आज के समय में, सौर ऊर्जा के उपयोग एक एडवांटेज के रूप मे उपयोग कर सकते है, क्योकि जैसे-जैसे विकास हो रहा है उसी रूप में विकास की परिभाषा के साथ जलवायु परिवर्तन हो रहा है ऐसे में सोलर एनर्जी के माध्यम से हम पृथ्वी को जलवायु परिवर्तन से रोक सकते है। सोलर एनर्जी के उपयोग के कुछ लाभ निम्न है-

• हम सोलर एनर्जी का उपयोग बिजली के लिए करते है जिससे बिजली बिल से की बचत होती हैं एवं कोयले के दहन से निर्मित बिजली स्व बचते है औऱ इस तरह हम पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचा सकते हैं।

• सोलर एनर्जी के उपयोग से हम घर मे गर्मी उतपन्न कर सकते है , घर के सारे इलेक्ट्रोनिक उपकरणों को बैटरी चार्ज करके चला सकते हैं।

• सौर ऊर्जा से विद्युत ऊर्जा उत्पादन करने में ज्यादा लागत नही आता है, सोलर पैनल के मदद से आसानी से घर मे बिजली का उत्पादन कर सकते हैं।

• इससे हानिकारक रेडियेशन का खतरा नहीं होता है, क्योकि सोलर एनर्जी के लिए बड़े प्लांट्स की आवश्यकता नही पड़ता है।
• सोलर एनर्जी से खाना पकाते है तब उसमें पौष्टिकता भरपूर मात्रा में मिलता हैं।

• सोलर एनर्जी का लाभ सभी तरफ़ देखने को मिल रहा है वर्तमान समय मे इलेक्ट्रिक व्हीकल में भी सोलर एनर्जी का प्रयोग किया जा रहा हैं।

• सौर ऊर्जा से उद्योगों को अपनी भारी मशीनरी और उपकरणों को चलाने के लिए बड़े और महत्वपूर्ण स्तर की बिजली प्रदान करता हैं।

• AC या Cooler सिस्टम के बजाय सोलर एनर्जी (Solar Energy) के सहायता से घर को गर्मियों में ठंडा रख सकते है। जिससे बिजली की बहुत ज्यादा बचत हो सकती हैं।

सौर ऊर्जा के नुकसान (Disadvantages of Solar Energy in Hindi)

• हालांकि सौर ऊर्जा का उपयोग से बिजली बिल बचाने मे अधिक मदद करता है। लेकिन शुरुआत में, सौर ऊर्जा सिस्टम को खरीदने और स्थापित करने की लागत अधिक होती हैं।

• सौर ऊर्जा सूर्य के प्रकाश पर ही निर्भर रहता है और सर्दियों के दौरान, बारिश या बादल के दिनों में इसकी दक्षता एक निश्चित स्तर तक कम हो जाती है। इसके अलावा इसे रात में एकत्र नहीं किया जा सकता हैं।

• सौर ऊर्जा का नुकसान यह भी है कि इसे तुरंत इस्तेमाल किया जाना चाहिए या इसके विद्युत ऊर्जा को बड़ी बैटरी में स्टोर करने के साथ इन्वर्टर की भी जरूरत पड़ती है। सौर ऊर्जा का भंडारण के लिए अधिक लागत की जरूरत होती हैं।

• इससे अधिक मात्रा में बिजली पैदा करने के लिए अधिक सौलर पैनलों की आवश्यकता होती हैं, जिसके लिए बहुत अधिक लागत के साथ-साथ अधिक जगह की आवश्यकता होती हैं।

• Solar Energy का उपयोग बैटरी चार्ज करने के लिए करते है ताकि रात में सौर ऊर्जा से चलने वाले उपकरणों को इस्तेमाल कर सके। बैटरियां अक्सर बड़ी और भारी होने की वजह से जगह लेती हैं और समय-समय पर इन्हें बदलने की भी जरूरत पड़ती हैं।

• Solar Energy से उत्पन्न होने वाली ऊर्जा की मात्रा दूसरे संसाधनों की तुलना में बहुत ही कम होती हैं, जो हमारी सभी जरूरतों को पूरा नहीं कर सकती हैं। सौर उपकरण नाजुक होने के कारण इसके रख-रखाव का ध्यान रखना काफी जरुरी होता हैं जिससे इसके बीमा पर खर्च होने से अतिरिक्त लागत की आवश्यकता होती हैं।

Solar Energy Ki Khoj Kisne Kiya

सन 1839 में, सोलर एनर्जी की आविष्कार अलेक्जेंडर एडमंड बैकेरल (Alexandre Edmond Becquerel) ने किया था। ए.ई. बेकरेल (A.E. Becquerel) ने फोटोवोल्टिक से होने वाले प्रभाव की खोज की थी, जो धातुओं में इलेक्ट्रॉन सिमुलेशन के जरिये प्रकाश के संपर्क मे आने से विद्युत चार्ज का निर्माण करता हैं। इसके बाद 19वीं शताब्दी के अंत में अलेक्जेंडर स्टोलेटोव (Alexander Stoletov) ने फोटोइलेक्ट्रिक प्रभाव पर आधारित पहला सौर सेल विकसित किया गया था जिससे बिजली पैदा की जाती हैं।

सौर ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में कैसे बदलें

सौर ऊर्जा को तीन तरीके से विद्युत ऊर्जा (Electric Energy) में बदला जा सकता है जो इस प्रकार हैं:-

1. थर्मल मोड जिससे गर्मी का इस्तेमाल करके बिजली पैदा करने के लिए किया जाता हैं।

2. सौर ऊर्जा को फोटोवोल्टिक द्वारा विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित किया जाता है जो विभिन्न एप्लिकेशन के लिए इस्तेमाल करते हैं।

3. थर्मोकपल (Thermocouples) का उपयोग करके बिजली पैदा की जा सकती हैं।

Saur Urja Se Chalne Wale Upkaran

जैसा की हम सभी ने पढ़ा है कि सूर्य के प्रकाश में अवरक्त किरणें होती हैं। सूर्य की इन्फ्रा-रेड किरणों की गर्मी का उपयोग करके बहुत से उपयोगी कार्यों को करने के लिए ऐसे सौर उपकरणों का निर्माण किया गया है जिनके बारे मे हम बात करने वाले है की, सौर ऊर्जा के उपकरण कौन-कौन से है। ऐसे उपकरण जो कुछ उपयोगी कार्य करने के लिए सीधे सौर ऊर्जा (Solar Energy) का इस्तेमाल करते हैं, सौर ऊर्जा उपकरण कहलाते हैं। सौर ऊर्जा से चलने वाले उपकरण के नाम की सूची निम्नलिखित हैं-

  • सोलर पैनल (Solar Panel)
  • सोलर टोर्च (Solar Torch)
  • सोलर बैटरी (Solar Battery)
  • सोलर कुकर (Solar Cooker)
  • सोलर वॉटर हीटर (Solar Water Heater)
  • सोलर वॉटर पंप (Solar Water Pump)
  • सोलर ग्रीन हाउस (Solar Greenhouse)
  • सोलर इंवर्टर (Solar Inverter)
  • सोलर लैंप (Solar Lamp)
  • सोलर वाहन (Solar Vehicle)
  • सोलर भट्टी (Solar Furnace)
  • सोलर चिमनी (Solar Chimney)
  • सोलर स्ट्रीट लाइट (Solar Street Light)
  • सोलर ट्रैफिक लाइट (Solar Traffic Light)
  • सोलर सेल फोन चार्जर (Solar Cell Phone Charger)
  • सोलर चार्ज कंट्रोलर (Solar Charge Controller)
  • MPPT टेक्नॉलोजी (MPPT Technology)
  • PWM टेक्नॉलोजी (PWM Technology)
  • सोलर ऊर्जा पंखा (Solar-Powered Fan)
  • सोलर रेफ्रिजरेटर (Solar-Powered Refrigerator)
  • सोलर पावर कंडीशनिंग (Solar-Powered Conditioning)
  • सोलर ऊर्जा कैलकुलेटर (Solar-Powered Calculator)

आप चाहे तो हमारे दैनिक जीवन में उपयोग होने वाले सोलर ऊर्जा के कुछ उपकरण को नीचे दिए गये लिंक से खरीद सकते हैं।

Buy Solar Devices

Best Solar Energy Indian Companies in Hindi

Tata Power Solar

टाटा सोलर सबसे पुराने और सबसे बड़े सोलर पैनल निर्माताओं में से एक है। इसे टाटा बीपी सोलर के नाम से जानते है। यह कंपनी सौर मॉड्यूल, सौर सेल और अन्य सौर उत्पादों का निर्माण करती है और सौर ऊर्जा परियोजनाओं के लिए ईपीसी सेवाएं प्रदान करती हैं।

Vikram Solar Pvt. Ltd

भारत में सौर ऊर्जा कंपनियों में दूसरी सबसे बड़ी है। इस कंपनी को पहले विक्रम सोलर प्राइवेट के नाम से जाना जाता था। यह कंपनी सौर ऊर्जा प्लांट के इंजीनियरिंग, खरीद और सौर निर्माण सेवाएं और उनकी देखभाल भी करती हैं।

Loom Solar

लूम सोलर हरियाणा में स्थित एक मोन पर्क सोलर पैनल और AC प्रॉडक्ट निर्माता है जिसकी विनिर्माण क्षमता 100 मेगावाट है। सन 2018 में, भारत में स्थापित कंपनी 10 वाट से 450 वाट सुपर उच्च दक्षता वाले सौर पैनलों निर्माताओं में से एक हैं।

WAAREE Energies Ltd

यह कंपनी 1.5 GW की क्षमता के साथ भारत का सबसे बड़ा सोलर PV मॉड्यूल निर्माता है। ये कंपनी EPC सेवाएं, प्रोजेक्ट विकास, Rooftop Solutions, सौलर वाटर पंप का निर्माण और एक स्वतंत्र विद्युत उत्पादन करती हैं।

EMMVEE

EMMVEE हरित ऊर्जा का उपयोग करते हुए उच्च गुणवत्ता वाले सौलर फोटोवोल्टिक, सौलर वॉटर हिटिंग सिस्टम और अन्य इंडस्ट्रियल उत्पादों का प्रमुख निर्माता हैं। यह कंपनी भारत में सौर ऊर्जा के भविष्य को विकसित करने की दिशा में अच्छा कार्य कर रही हैं।

Photon Energy Systems

भारत मे फोटॉन एनर्जी सिस्टम कंपनी सोलर पीवी पैनल और सोलर थर्मल सिस्टम बनाती हैं। यह कंपनी भारत और विदेशों में सोलर सिस्टम इंटीग्रेशन और सोलर पावर प्लांट इंस्टॉलेशन तक की सभी सोलर प्रोडक्ट का निर्माण करती हैं।

Icomm Tele Ltd

Icomm सोलर होम, स्ट्रीट लाइटिंग सिस्टम, सोलर वॉटर हीटिंग और पंपिंग सिस्टम, सोलर गार्डन लाइट्स, सोलर लालटेन, सोलर फेंसिंग सिस्टम के साथ सोलर फोटोवोल्टिक इत्यादि उत्पादों का निर्माण करती हैं।

निष्कर्ष:

हाँ तो दोस्तों उम्मीद है की यह ब्लॉग आपको, सौर ऊर्जा क्या है (Information of Solar Energy in Hindi), सौर ऊर्जा के प्रकार, उपयोग तथा सौर ऊर्जा के लाभ और हानि क्या होता है एवं सौर ऊर्जा के बारे में अन्य जानकारी पसंद आयी होगी। आपको इस पोस्ट से समझ आया होगा की सोलर ऊर्जा हमारे लिए कितना महत्वपूर्ण है इसे एक बार लगाने के बाद बिजली के अधिक बिल आने की परेशानी से बच सकते हैं। हालांकि यह थोड़ा महंगा पड़ता है लेकिन यह खर्च सिर्फ एक बार करना पड़ता हैं।

यदि आपको सौर ऊर्जा के बारे में जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों और सोशल मीडिया ग्रुप मे अधिक से अधिक शेयर करे ताकि उन्हें भी सोलर एनर्जी क्या है (Information About Solar Energy in Hindi) एवं सौर ऊर्जा के फायदे के बारे मे जानकारी हो सकें। सौर ऊर्जा से संबन्धित कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट बॉक्स में ज़रूर बताएं हम उसे पूरा करने की कोशिश जरूर करेंगे, धन्यवाद।

यह भी पढ़ें-    Artificial Intelligence क्या है?

2 thoughts on “What is Solar Energy in Hindi | सौर ऊर्जा क्या है | Saur Urja Kya hai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *