What is Computer Hardware in Hindi | कंप्यूटर हार्डवेयर क्या है और इसके प्रकार

By | October 14, 2020

हेलो दोस्तों Tech Karya ब्लॉग पर आपका स्वागत है, आज मैं इस पोस्ट मे बताने वाला हू की, कंप्यूटर हार्डवेयर क्या है (what is computer hardware in hindi?) और विभिन्न कंप्यूटर हार्डवेयर के प्रकार (types of computer hardware in hindi) के बारे मे अच्छे से जानकारी प्राप्त कर पाएंगे। जैसा की हम सब जानते है की केवल स्वय कम्प्युटर का कोई अस्तित्व नहीं होता हैं इसे अपना कार्य करने के लिए किसी प्रोग्राम या फिर किसी instruction और उपकरणों की आवश्यता पड़ती हैं।

computer hardware kya hai hindi

सामान्यतः कंप्यूटर के दो भाग होते हैं, पहला भाग Hardware और दूसरा भाग सॉफ्टवेयर Software होता हैं। Computer hardware का परिभाषा और इसके कार्य Software से बिलकुल अलग हैं, लेकिन आपको ये भी बता दूं की हार्डवेयर के बिना सॉफ्टवेयर कुछ भी नहीं है।

उदाहरण तौर पर- कीबोर्ड (Keyboard) और Mouse एक हार्डवेयर है और MsExcel, PowerPoint या MsWord एक सॉफ्टवेयर हैं, तो आप सोचिए की Keyboard और Mouse के बिना हम MsExcel या PowerPoint में कैसे लिख सकते हैं? तो आइये देखते हैं Computer Hardware Kya Hai इसके बारे मे विस्तार से जानते हैं।

कंप्यूटर हार्डवेयर क्या है (what is computer hardware in hindi?)

कंप्यूटर के भौतिक भाग (physical parts) को कंप्यूटर का हार्डवेयर कहा जाता है। अगर इसको दूसरे आसान शब्दों मे बताएं तो कंप्यूटर हार्डवेयर, कंप्यूटर मशीन का वह हिस्सा है जिसे हम अपनी आंखों से देख तथा अपनी हाथों से टच कर सकते हैं, वो कंप्यूटर Hardware कहलाता हैं।

उदाहरण के लिए: CPU, Motherboard, RAM, Printer, Hard Disk, Terminal, Flopy Drive, Storage Devices, Keyboard, Mouse इत्यादि कंप्यूटर का hardware पार्ट्स हैं, जिन्हे कंप्यूटर का हार्डवेयर कहा जाता है। Hardware को शॉर्टकट मे H / W भी लिखा जाता हैं।

कंप्यूटर सिस्टम एक मशीन होता हैं तथा कम्प्युटर के सभी physical parts कंप्यूटर का हार्डवेयर कहलाती हैं। परंतु सिर्फ अकेला हार्डवेयर ही सभी काम नहीं करता है इसके साथ ही कम्प्युटर का दूसरा भाग सॉफ्टवेयर (Software) भी होता है। Hardware, Software की सहायता से कंप्यूटर के उपकरण को निर्देश (Commond) देता है और यह उपकरण उन सब निर्देशों के अनुसार कार्य करता हैं।

आपको ये भी बता देता हूं कि, Software कंप्यूटर का वह भाग होता है जिसे हम हार्डवेयर पर इंस्टॉल करते है या चलाते हैं। Software को हम hardware की तरह देख तो सकते हैं लेकिन हम उसे टच नहीं सकते हैं। किसी भी सॉफ्टवेयर का उपयोग हम कंप्यूटर hardware बिना कभी नहीं कर सकते हैं।

हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के combination से ही एक सम्पूर्ण कंप्यूटर बनता है कंप्यूटर का hardware की बिना कोई अस्तित्व ही नहीं हैं। उदाहरण के लिए- जैसे की ये ब्लॉग (Hardware Kya Hai) इस ब्लॉग को आप अपनी screen पर पढ़ रहे हैं, चाहे वो mobile अथवा computer हो, इसकी screen भी एक hardware का भाग हैं जो output device की श्रेणी में आता हैं।

कंप्यूटर हार्डवेयर का वर्गीकरण (Classification of Computer Hardware in Hindi)

Computer Hardware को मुख्य रूप से दो भागों में वर्गीकृत गया हैं-

  1. Internal Hardware (इंटरनल हार्डवेयर)
  2. External Hardware (एक्सटरनल हार्डवेयर)

Internal Hardware

Internal Hardware कंप्यूटर का वह physical part है जिसमे मुख्य उपकरण आंतरिक रूप से निर्माण करते हैं जो कंप्यूटर के भीतर उपकरण स्थापित होता है जो हमें दिखायी नहीं देते हैं। आंतरिक हार्डवेयर उपकरणों में CPU, motherboard, hard drive, CD-ROM Drive और RAM, इत्यादि शामिल होते हैं जबकि हार्डवेयर के बाहरी उपकरणों में monitor, keyboard, mouse, printer और scanner आदि शामिल होते हैं। नीचे दिये गए कंप्यूटर में internal hardware के अतिरिक्त उदाहरण हैं।

  • Hard Drive
  • CD-ROM DRIVE
  • Motherboard
  • RAM (Random Access Memory)
  • CPU (Central Processing Unit)
  • PSU (Power Supply Unit)
  • GPU (Graphical Processing Unit)
  • Heat Sink (Fan)
  • Power Supply
  • NIC (Network card)
  • Multimedia Audio and Video Cards
  • Adapter and Controller Cards

External Hardware

External Hardware बाहरी रूप से कंप्यूटर हार्डवेयर डिवाइस का अंग होते है, जो कंप्यूटर के बाहर स्थापित होते है। उदाहरण के लिए- एक Printer एक बाहरी उपकरण है क्योंकि यह कंप्यूटर के पिछले हिस्से से जुड़ता है। हालाँकि Motherboard एक आंतरिक डिवाइस है क्योंकि यह कम्प्युटर के अंदर स्थापित होता है। External Hardware को कम्प्युटर का peripheral device भी कहा जाता है, इसमे Input और Output उपकरण मौजूद होते हैं, जिनके कुछ नाम इस प्रकार हैं-

  • Mouse
  • Keyboard
  • Monitor and LCD
  • Speaker
  • Projector
  • Headphones
  • USB drives
  • External Hard Drives
  • Printers and Scanners
  • UPS (Uninterruptible Power Supply)

कंप्यूटर हार्डवेयर के प्रकार (Type of Computer Hardware in Hindi)

अब आप समझ गए हैं की, Computer Hardware Kya Hai जिसका मतलब इसके भौतिक physical पार्ट्स से हैं, तथा इन पार्ट्स को मिलकर कम्प्युटर का निर्माण होता हैं। कंप्यूटर डाटा को स्टोर करने, वापस पाने और डाटा को संसाधित करने के लिए हार्डवेयर घटकों (components) को एक साथ काम करने के योग्य बनाता है। इसके कई सारे devices के निम्न प्रकार example बता चुके हैं। कम्प्यूटर हार्डवेयर को अलग-अलग श्रेणियों में निम्न चार भागों की वर्गीकृत किया गया है-

Input device

Input device वो इलेक्ट्रोनिक डिवाइस या मशीन होती है जो किसी कम्प्युटर सिस्टम में input देने के लिए प्रयोग किया जाता हैं। यह Input device किसी कम्प्युटर का वह भाग होती है जिसके माध्यम से हम अपने डाटा, सूचना अथवा आदेश को कम्प्युटर में देते हैं और कम्प्युटर उन उपलब्ध डाटा एवं सूचनाओ को प्रोसैस करके हमे output देता हैं। जो devices input और output के लिए इस्तेमाल की जाती है उसे बाह्य उपकरण (peripherals) बोलते हैं।

उदाहरण के लिए- इनपुट कीबोर्ड (Keyboard) का सबसे अच्छा उदाहरण है, इसके माध्यम से उपयोगकर्ता कंप्यूटर में alphanumeric data और आदेश (command) से input करने की सुविधा प्रदान करता हैं जिससे हम अपना डाटा तैयार करके कम्प्युटर को भेज देते हैं। इनपुट डिवाइस के अंतर्गत बहुत सारे कम्प्युटर hardware आते है, इसके अतिरिक्त कुछ उदाहरण निम्न प्रकार नीचे दिये गए हैं।

  • स्कैनर (Scanner)
  • माउस (Mouse)
  • कीबोर्ड (Keyboard)
  • जॉय-स्टिक (Joy Stick)
  • लाइट पेन (Light Pen)
  • वेब कैमरा (Web Camera)
  • माइक (Mike)
  • माइक्रोफोन (Microphone)
  • बार कोड रीडर (Bar Code Reader)

Output device

Output device कंप्यूटर हार्डवेयर का पार्ट्स है जिससे हमें कंप्यूटर से डाटा या आदेश का परिणाम (results) प्राप्त होता है। Output मे कई प्रकार की devices होती हैं जिनसे हमे अलग-अलग प्रकार के आउटपुट डाटा प्राप्त होते हैं। आउटपुट के माध्यम से इन्फॉर्मेशन डाटा या सूचनाओ को जिन्हे हम storage devices जैसे- हार्ड डिस्क, फ्लॉपी डिस्क या एसडी कार्ड इत्यादि मे स्टोर करके अपने प्रयोग मे लाते हैं। एक input डिवाइस और एक output डिवाइस के बीच मुख्य अन्तर यह है कि एक input डिवाइस कम्प्युटर को data भेजता है, जबकि एक output डिवाइस कम्प्युटर से data को प्राप्त करता है।

उदाहरण के लिए- आउटपुट का सबसे अच्छा और हर जगह पाया जाने वाला डिवाइस है, मॉनीटर (Monitor) अथवा वी.डी.यू. (Visual Display Unit). यह एक tv screen के जैसा होता हैं इसका इस्तेमाल screen पर इन्फॉर्मेशन डाटा अथवा सूचनाओ को प्रदर्शित करने के लिए किया जाता हैं। सूचनाओं या रिपोर्टों को प्रिंट करने के लिए output उपकरण जैसे प्रिंटर (Printer) तथा प्लॉटर (Plotter) का प्रयोग किया जाता हैं।

  • Printer
  • Plotters
  • Touch Screen
  • Headphones
  • Projector
  • Sound Card
  • Video Card
  • Computer Speaker
  • Monitor (LED, LCD, CRT)

Processing device

Processing device ऐसा उपकरण है जब कोई कंप्यूटर input device (जैसे- माउस, कीबोर्ड, माइक्रोफोन इत्यादि) से डाटा या आदेश प्राप्त करता है, तो वह डाटा output device (जैसे- प्रिंटर, मॉनिटर, स्पीकर इत्यादि) को भेजने से पहले उसे एक मध्यवर्ती चरण (intermediate stage) से होकर गुजरता है फिर वह डाटा प्रोसेस होकर हमे आउटपुट देता हैं।

यह कंप्यूटर का ऐसा hardware है जो इनपुट डाटा को मध्यवर्ती चरण को संभालता है, जिसे internal memory डिवाइस भी कहते हैं। Processing device किसी भी डाटा को उपयोगी जानकारी में बदलनें का काम करती हैं। उदाहरणतः कुछ प्रोसेसिंग डिवाइस का नाम इस प्रकार हैं-

  • Power supply
  • Motherboard
  • Chipset
  • Data bus
  • Address bus
  • Expansion slots & Network cards
  • Central Processing Unit (CPU)
  • Graphics Processing Unit (GPU)
  • Random Access Memory (RAM)
  • Read-only memory (ROM)

Storage Device

Storage Device कंप्यूटर हार्डवेयर का एक भाग है जिसका प्रयोग किसी कंप्यूटर या इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में data या information को सुरक्षित स्टोर करने, पोर्ट करने और डाटा का आदान-प्रदान करने के लिए किया जाता हैं। स्टोरेज डिवाइस डाटा को permanent और Temporary दोनों रूप से जानकारी रखता या स्टोर करता हैं। यह एक कंप्यूटर या सर्वर के internal या external उपकरण हो सकता हैं। Storage Device को दूसरे शब्दों में storage medium या storage media के नाम से भी जानते हैं।

यह स्टोरेज डिवाइस किसी भी कम्प्युटर डिवाइस की सामान्य भागों मे से एक होती हैं। यह hardware firmware को छोड़कर कंप्यूटर के लगभग सभी डाटा और एप्लिकेशन को सुरक्षित रखता हैं। यह अलग-अलग shapes और sizes में जरूरतों और फंकशन के आधार पर आता है। उदाहरण तौर पर- किसी standard कम्प्युटर में RAM, Hard disk और Cache मेमोरी सहित कई अन्य स्टोरेज डिवाइस मौजूद होते हैं।

मुख्यतः कंप्यूटर में Storage Device दो प्रकार की होती हैं।

  1. सेकेंडरी स्टोरेज डिवाइस (Primary Storage Device)
  2. प्राइमरी स्टोरेज डिवाइस (Secondary Storage Device)

Primary Storage

इस डिवाइस को Main Memory या Main Storage के नाम से भी जानते है। प्राइमरी स्टोरेज डिवाइस दूसरे अन्य स्टोरेज से सबसे बड़ा अंतर यह है की ये सीधे CPU द्वारा access किया जाता हैं, यह एक अस्थिर (Voletile) होता है और यह स्टोरेज removable नहीं होता है। प्राइमरी मेमोरी की साइज़ क्षमता बहुत सीमित होती है और हमेशा secondary memory की तुलना में छोटी होती है जिस कारण यह कंप्यूटर के internal) हिस्से मे मौजूद होती है। इनमे मुख्य रूप से RAM, ROM तथा Cache Memory शामिल होती है।

Primary Storage दो तरह की होती हैं-
1) Random Access Memory (RAM)
2) Read-Only Memory (ROM)

Secondary storage

Secondary storage कम्प्युटर की Permanent Memory होती हैं। सेकेंडरी स्टोरेज डिवाइस मे अनलिमिटेड डाटा और डाटा को permanently स्टोर करके रख सकते हैं। Secondary Storage को Auxiliary Storage Device के नाम से भी जानते है। इनमें Data रखने की क्षमता ज्यादा होती है क्योंकि इनकी Data Storage क्षमता अधिक होती है। Secondary storage device कंप्यूटर के internal या external हिस्से का पार्ट्स होती है। इसमे अपने अनुसार data स्टोर करने की क्षमता या स्टोरेज साइज़ को कम या ज्यादा भी कर सकते हैं। इस Secondary storage डिवाइस का दूसरा नाम Auxiliary Storage Device भी कहते है। यह डिवाइस जैसे- DVD drives, Hard disk drives और USB flash drives इत्यादि होती है।

नीचे कुछ मुख्य निम्नलिखित Secondary Storage डिवाइस का उदाहरण दिया गया हैं।

  • SD Cards
  • Pen-Drive
  • Floppy Disk
  • Magnetic tape
  • CD-ROM Drives
  • DVD-ROM Drives
  • Hard Disk Drives
  • USB flash drives
  • SSDs (Solid-state drives)
  • HDDs (Hard disk drives)

निष्कर्ष:

तो दोस्तो मुझे उम्मीद हैं की इस पोस्ट से आप समझ गए होंगे की, Computer Hardware क्या है (What is computer hardware in hindi), कंप्यूटर हार्डवेयर के प्रकार तथा कंप्यूटर हार्डवेयर पार्ट्स क्या है? मैंने इस ब्लॉग में hardware kise kehte hai इसके बारे मे अच्छे से समझने की कोशिश की है। यदि इससे संबन्धित कोई सवाल या सुझाव है तो हमे कमेंट करके अवश्य बतायें, हम उसे जरूर पूरी करने की कोशिश करेंगे। यदि यह पोस्ट (Hardware Kya Hai) आपको अच्छा लगे तो अपने फ़्रेंड्स या ग्रुप में जरूर शेयर करें, धन्यवाद।

One thought on “What is Computer Hardware in Hindi | कंप्यूटर हार्डवेयर क्या है और इसके प्रकार

Leave a Reply

Your email address will not be published.