What is Cyber Crime in Hindi | साइबर क्राइम क्या है तथा इसके प्रकार

By | June 29, 2021

आज के दौर में साइबर क्राइम जैसे शब्द हम अक्सर सुनते हैं। लेकिन कितनों को, साइबर क्राइम क्या है (what is cyber crime in hindi), साइबर अपराध के प्रकार तथा साइबर क्राइम से कैसे बचें, इसके बारे में उन्हे कोई जानकारी नहीं होती है। जिस वक्त इंटरनेट का खोज हुआ था, उस वक्त शायद ही किसी को यह भी मालूम होगा, कि भविष्य में कभी इंटरनेट का गलत प्रयोग भी किया जा सकता है, खासकर क्रिमिनल एक्टिविटी के लिए।

What is Cyber Crime in Hindi

वैसे क्राइम जो इंटरनेट या Cyberspace में होते हैं, उन्हें ही साइबर क्राइम कहा जाता हैं। ऐसे अपराध को कोई ऐसा अज्ञात व्यक्ति अंजाम देता है, जिसे कंप्यूटर और इंटरनेट की अच्छी नॉलेज हो। वैसे ही व्यक्ति इंटरनेट का गलत इस्तेमाल करके साइबर क्राइम को बढ़ावा देते हैं। आज के दौर में साइबर क्राइम दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहा है। ऐसे परिस्थिति में साइबर क्राइम की नॉलेज लोगों को सबसे ज्यादा होनी चाहिए। जिससे लोग इन सबसे बचे रहे।

माना कि आज के समय इंटरनेट के बहुत फायदे हैं, लोग एक दूसरे के साथ जुड़ रहे हैं। लेकिन साथ ही आए दिन लोग साइबर क्राइम जैसे – Hacking, Scamming, Identity theft, Spamming इत्यादि के शिकार भी बन रहे हैं। आज Cybercrime की कारण दुनियाभर में अपराध की संख्या बढ़ती ही जा रही हैं।

इसलिए इन अपराधों से बचने के लिए आपको इसकी पूरी जानकारी होनी जरूरी है। इसलिए आज हम यहां आपको साइबर क्राइम की पूरी जानकारी प्रदान करेंगे तो चलिए देर किस बात की शुरू करते हैं, Cyber Crime क्या है? और इसके प्रकार क्या है?

साइबर क्राइम क्या है (What is Cyber Crime in Hindi)

साइबर क्राइम एक ऐसा अपराध है, जिसमे अपराधी Hacking, Spamming, Phishing इत्यादि का इस्तेमाल करके कोई भी अपराध जैसे – Important Documents और Information की चोरी, Online Fraud, Pornography, Identity theft इत्यादी जैसे खतरनाक अपराध को अंजाम देता है।

जो लोग इस तरह के अपराध को अंजाम देते हैं, उन्हें साइबर क्रिमिनल्स के नाम से जाना जाता है यह साइबर क्रिमिनल्स इंटरनेट और कंप्यूटर का प्रयोग करके Personal Information, Business Related Secrets और Bank Account Details इत्यादि को Access करके एक खतरनाक अपराध को अंजाम देते हैं।

कोरोना (Covid-19) समय मे ऑनलाइन से ज्यादा लेन-देन का चलन बढ़ने से साइबर क्राइम के मामलों में तेजी से वृद्धि हुई है। लॉकडाउन के बीच बीते छह महीनों में साइबर क्राइम की करीब दो गुना अधिक अपराधिक मामले की बढ़ोतरी हुई, क्योंकि ऐसे में लोग ज्यादातर ऑनलाइन रहते थे और कोरोना से बचने के लिए कैश का इस्तेमाल कम कर रहे थे तथा online payment का इस्तेमाल ज्यादा। इसलिए ऑनलाइन लेन-देन करते हुए पूरी तरह से सावधानी बरतें।

आज के इस इंटरनेट दौर में इस खतरनाक अपराध को अंजाम देने के लिए अपराधी कंप्यूटर, इंटरनेट, डिजिटल उपकरणों तथा illegal activities का प्रयोग करते हैं। इसलिए इन्हें Hackers और Crackers कहा जाता है। Cyber Crime से निपटने के लिए भारत सरकार द्वारा एक डेडिकेटेड वेबसाइट cybercrime.gov.in की शुरूआत की गई है, जहाँ पर आप इससे संबंधित शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

साइबर क्राइम के प्रकार (Types of Cyber Crime in Hindi)

जब कोई अपराध इंटरनेट के द्वारा या इंटरनेट के ऊपर होता है, तो उस अपराध को ही साइबर क्राइम कहा जाता है। अब आप समझ गए होंगे की, cyber crime kya hai वैसे तो साइबर क्राइम एक छोटा सा शब्द है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि साइबर क्राइम कितने प्रकार के होते हैं।

तो चलिए आप के इस सवाल का जवाब भी हम देते है, वैसे तो साइबर क्राइम बहुत तरह के होते हैं, जिनमें से कुछ इस प्रकार के है-

Hacking

इस प्रकार के अपराध में हैकर्स दूसरों के कंप्यूटर इत्यादि में उनकी अनुमति के बिना घुस जाते हैं और उनके कंप्यूटर या कोई ऑनलाइन अकाउंट से पर्सनल और इंपोर्टेंट इनफार्मेशन Access कर लेते हैं। Hacking तथा Ethical Hacking से बहुत अलग होता है। Hacking में ऑर्गेनाइजेशन Ethical Hackers को वेबसाइट की सिक्योरिटी चेक करने के लिए अप्वॉइंट करते हैं और वहीं Hacking में Hackers दूसरों के कंप्यूटर में बिना उनकी अनुमति से अलग प्रकार के सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करते हुए घुस जाते हैं और कंप्यूटर से जरूरी इंफॉर्मेशन Access कर लेते हैं और कंप्यूटर के ओनर को इसकी भनक भी नहीं लगती।

Identity Theft

आज के समय में Identity theft बहुत अधिक देखने को मिलता है। यह ज्यादातर वैसे लोगों को अपने टारगेट में लेते हैं। जो इंटरनेट यानी ऑनलाइन के माध्यम से अपने Cash Transactions और Banking Services का उयोग करते हैं। ऐसे साइबर क्राइम में अपराधी किसी भी व्यक्ति का Data जैसे कि उसका Credit card Details, Personal Information, Debit Card इत्यादि जैसे Important Information को किसी भी प्रकार से Access कर लेते हैं और उन्हीं Details का प्रयोग करते है और साथ ही Victims का पहचान लेकर ऑनलाइन चीजें खरीदते हैं। ऐसी Situation में Victims को काफी आर्थिक नुकसान उठाने पड़ते हैं।

Compter Virus

वर्तमान में कुछ नेटवर्क और सॉफ्टवेयर ऐसे होते हैं, जो दिखने में बहुत ज्यादा आकर्षित लगते है। लेकिन, यदि उन्हें अपने फोन या कंप्यूटर में डाउनलोड कर लिया जाए या उन पर क्लिक कर दिया जाए, तो वह आपके कंप्यूटर और फोन को पूरी तरह से hack कर लेते हैं या आपके फोन या कंप्यूटर पर कोई ऐसे Virus Transfer कर देते हैं, जिससे आपका System खराब हो जाता है या आपके कंप्यूटर और फोन की पूरी जानकारी जैसे आपके अकाउंट इत्यादि को Access कर लेते हैं।

Phishing Phishing

Phishing बहुत ही समान्य अपराध है। इसमें Victim को Email भेजा जाता है, जो कि यह दावा करता है, कि यह एक अच्छी कंपनी के द्वारा भेजा गया है। ताकि Victim से Personal Information जैसे Bank Account Details, Adhar Card, Pan card, Debit card इत्यादि Information निकलवा सके अथवा Victim के खिलाफ उस Information का गलत इस्तेमाल करके उस को नुकसान पहुंचा सके।

Spamming

इस अपराध के अंतर्गत बड़े-बड़े होटल के कमरों और बाथरूम में कहीं छुपा कर कैमरे लगा दिए जाते हैं तथा उन कैमरे की मदद से होटल में रुकी हुई लड़कियों की कुछ अश्लील फोटोज और विडियोज़ रिकॉर्ड कर लेते है। ऐसा ही कुछ छोटे और बड़े Shopping Mall जहां Changing Room की सुविधा दी गई होती है। वहां भी इस तरह के कैमरे लगाए जाते हैं, ताकि लड़कियों की विडियोज़ बना के उसे ब्लैकमेल कर सके।

Scamming

इस तरह के अपराध में अपराधी अधिकतर Email और मैसेज के द्वारा आप को अपने झांसे में लेने की कोशिश करते हैं। अपराधी ऐसे मामले में अक्सर लोगों को लालच देते हैं और victem अमूमन उनके झांसे में फंस कर अपना नुकसान कर बैठते हैं। इस तरह के अपराध में अपराधी सबसे पहले बहुत सारे ईमेल को Collect करते हैं और फिर उन्हें अपने झांसे में फसाने के लिए spam email send करते हैं।

Software Privacy

Software Privacy के बहुत तरह के होते है। लेकिन, जो सबसे आम हैम वह है, Software की Copy तैयार करना और फिर उसे सस्ते दामों में लोगों को बेवकूफ बनाते हुए बेच देना। साइबर क्राइम के अंतर्गत इस तरह के कार्य बहुत ज्यादा देखने को मिलते हैं। इससे बड़ी और famous कंपनियों को काफी नुकसान झेलने पड़ते हैं और साथ ही आपने जो Software कि Copy खरीदी होती है। वह सही ढंग से काम भी नहीं करते और इससे आपको भी नुकसान होता है।

Froud Bank Call

इसमें bank customers को फ़्रॉड ईमेल, टेक्स्ट मैसेज या फोन कॉल्स आता है जिसमें आपके ATM card नम्बर, पासवर्ड या मोबाइल में OTP मैसेज के बारे में पूछते है या किसी link द्वारा जानकारी देने की बात करते है, और कहते है कि यदि आपके द्वारा यह जानकारी नही दिया गया तो आज आपका bank account बन्द हो जाएगा या पैसे कट जाएंगे। हमेशा याद रखे कोई भी बैंक द्वारा इस तरह से ऐसी जानकारी कभी भी नहीं माँगते है और गलती से भी अपनी bank details या कोई अन्य जानकारी को इंटरनेट या फ़ोन कॉल्स के माध्यम से नहीं बताना चाहिए।

साइबर क्राइम से बचने के उपाय (Measures to Avoid Cyber Crime in Hindi)

1. यदि आपका कंप्यूटर इंटरनेट से हमेशा connected रहता है, तो हैकर और वायरस आने का खतरा ज्यादा बढ़ जाता है जिससे आपके डेटा सुरक्षित नही रहता है। इसलिए जब इंटरनेट का जरूरत हो तभी इस्तेमाल करें।

2. यदि आप कंप्यूटर पर काम नहीं कर रहे है, तो अपने कंप्यूटर को open करके ना छोड़े बल्कि उसे lock या log off कर दे ताकि कोई भी आपकी जानकारी को ऑनलाइन भी access ना कर सके।

3. Cyber criminals अज्ञात ईमेल के अलावा online विज्ञापन या ads links के जरिये झांसा देकर निजी जानकारी को चुरा सकते है, यदि आपको कुछ ऐसा संदिग्ध लगता है तो तुरंत इसे डिलीट कर दे और इन सबसे सावधान रहें।

4. अपने लैपटॉप/मोबाइल से मुफ्त सार्वजनिक wi-fi को इस्तेमाल करने से बचे ताकि आपकी निजी जानकारी सुरक्षित रहें। जब कोई फाइनेंसियल ट्रांसक्शन या लॉगिन करना हो तो हमेशा अपने विश्वशनीय होम wi-fi network का इस्तेमाल करें।
सार्वजनिक वाई-फाई इस्तेमाल करने से हैकर्स आसानी से आपके डाटा जैसे account details और password इत्यादि को चुरा सकते हैं।

5. इंटरनेट बैंकिंग या ऑनलाइन शॉपिंग करते समय सुरक्षित वेबसाइटों का इस्तेमाल करें, जिस वेबसाइट के एड्रेस बार में lock symbol या HTTPS के साथ URL रहता हैं। क्योंकि ये वेबसाइट आपकी जानकारी को सुरक्षित रखने के लिए encryption का इस्तेमाल करती हैं।

6. Online security के लिए कई प्रकार के एंटीवायरस सॉफ्टवेयर आते है, जो वायरस या मैलवेयर से आपके कंप्यूटर की सुरक्षा हेतु बहुत आवश्यक हैं इसलिए अपने सिस्टम में हमेशा एक अच्छा latest और updated एंटीवायरस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करें।

7. हमेशा अलग-अलग websites और apps के लिए अलग-अलग password का इस्तेमाल करने की कोशिश करें, सभी जगह एक ही password का इस्तेमाल ना करें और अपने पासवर्ड को नियमित रूप से एक strong पासवर्ड के साथ बदलते रहे।

निष्कर्ष:

जैसा कि आज हमने आपको इस आर्टिकल के द्वारा बताया कि, cyber crime kya hai hindi, इसके कितने प्रकार होते है तथा cyber crime se kaise bache. मुझे उम्मीद है, कि आपको आज के इस आर्टिकल से बहुत कुछ सिखने को मिला होगा।

तो दोस्तों यदि आपको आज का यह आर्टिकल पसंद आया है, तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। ताकि उन्हें भी साइबर क्राइम की पूरी जानकारी प्राप्त हो सके और साथ ही हमें कमेंट करके भी बताएं कि आपको हमारी दी हुई जानकारी कैसी लगी, धन्यवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published.